मप्र / मंत्री मरकाम काे नाेटिस, 24 घंटे में देना हाेगा जवाब, बचाव में उतरे राजपूत

राहुल गुप्ता 

भोपाल. प्रदेश सरकार में जनजातीय कार्य मंत्री ओमकार सिंह मरकाम को चुनाव आयोग ने शुक्रवार को नोटिस दिया है। उनसे 24 घंटे में जवाब मांगा गया है। मरकाम ने आचार संहिता के दौरान शहडोल कलेक्ट्रेट गए थे और वहां कलेक्टर से चर्चा की थी। आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए नोटिस जारी किया है।

शहडोल में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सभा की तैयारियाें के सिलसिले में 20 अप्रैल को मरकाम रात में कलेक्ट्रेट गए थे। वे वहां करीब 50 मिनट रुके थे। शहडोल कमिश्नर ने अपनी रिपोर्ट आयोग को दी है। उन्होंने मामले की जांच की थी। रिपोर्ट में मरकाम के कलेक्ट्रेट जाने का उल्लेख हुआ है।

हटाए जा सकते हैं कलेक्टर 

इस मामले में शहडोल कलेक्टर ललित दाहिमा के विरुद्ध भी कार्रवाई की जा सकती है। उन पर मंत्री के साथ बैठक के आरोप हैं। इस वजह से उन्हें हटाया जा सकता है।

गोविंद राजपूत ने दिया जवाब 
इधर, राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत ने आयोग को अपना जवाब भेज दिया है। राजपूत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबंध में दिए गए बयान पर अपना जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री अपने ट्विटर हैंडल पर चौकीदार शब्द का उपयोग करते हैं। उन्होंने विस्तृत जवाब के लिए वीडियो की मांग की है। राजपूत पर कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रधानमंत्री के लिए आपत्तिजनक शब्द बोलने का आरोप था।

मंत्री मरकाम के जवाब का इंतजार 

मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग ने दो मंत्रियों को नोटिस देकर जवाब मांगा था, गोविंद सिंह राजपूत ने जवाब दे दिया है। मरकाम के जवाब का इंतजार है। उनके जवाब के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।