दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा JeM आतंकी बशीर, 2 लाख का था इनाम; श्रीनगर से हुई गिरफ्तारी

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जैश-ए-मुहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के आतंकी बशीर अहमद को कई सालों बाद गिफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। स्पेशल सेल ने आतंकी बशीर की गिरफ्तारी सोमवार शाम को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से की। एक मामले में आतंकी बशीर की स्पेशल सेल को तलाश थी। इस बाबत उस पर 2 लाख का इनाम भी घोषित किया गया था। इसके दो और साथियों को दिल्ली पुलिस ने इसी साल गिरफ्तार किया था। इनके नाम फैयाज और मजीद बाबा हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, मुखबिर की सूचना पर स्पेशल सेल ने मंगलवार को श्रीनगर से बसीर अहमद को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद लगातार उससे पूछताछ की जा रही है।

यहां पर बता दें कि एक दशक पहले 2007 में भी दिल्ली पुलिस के साथ एनकाउंटर के दौरान बशीर गिरफ्तार हुआ था, लेकिन मुकदमा चलने के बाद निचली अदालत से बरी हो गया था। इसके बाद मुकदमा दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने इसे सजा सुनाई थी। कुछ सालों बाद इस मामले में जमानत मिलने के बाद बशीर हाई कोर्ट में पेश नहीं हो रहा था। कई बार पेशी से नदारद रहने पर कोर्ट ने उसके खिलाफ गैरजमानती वारंट तक जारी किया था।

गौरतलब है कि जैश-ए-मोहम्मद एक पाकिस्तानी जिहादी संगठन है, जिसका मकसद कश्मीर को भारत से अलग करना है। इसकी स्थापना मौलाना मसूद अजहर ने की थी, लेकिन मौजूदा वक्त में उसका भाई मौलाना रऊफ असगर जैश-ए-मोहम्मद का सरगना है।

मसूद अज़हर ने मार्च 2000 में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की नींव रखी थीय़साल 2001 में अमेरिका ने जैश-ए-मोहम्मद को विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित किया। जिसके बाद साल 2002 में पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद को बैन कर दिया। जैश-ए-मोहम्मद का नाम भारत, अमेरिका और ब्रिटेन द्वारा जारी आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल है।