देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड: अब बेटे ने कहा- मैं घटना का चश्मदीद, मुझे भी मरवा सकते हैं

भोपाल: बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए देवेंद्र चौरसिया की 4 महीने पहले हटा में हुई हत्या का मामला लगातार उलझता जा रहा है। मृतक देवेंद्र के बेटे सोमेश चौरसिया ने शनिवार को 6 मिटन 53 सेकेंड का वीडियो जारी कर आरोप लगाते हुए कहा है कि कमलनाथ सरकार पथरिया से विधायक रामबई के पति और हत्याकांड के मुख्य आरोपी गोविंद सिंह को बचा रही है। मैं अपने पिता की मौत का चश्मदीद हूं, इसलिए मेरी भी हत्या की जा सकती है।

दरअसल बीते दिनों कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया का मुख्य हत्यारोपी और पथरिया से विधायक रामबाई का पति गोविंद सिंह विधानसभा में देखा गया। जिसके बाद कमलनाथ सरकार औऱ पुलिस पर भी सवाल खड़े हुए। लेकिन इसके कुछ ही देर बाद पुलिस ने आरोपी पर घोषित 25 हजार रुपए ईनाम राशी को भी निरस्त कर दिया और कहा गया कि इस मामले की दोबारा जांच की जाएगी। वहीं सोमेश चौरसिया के जवाब में हत्या के आरोपी गोविंद सिंह ने भी भोपाल से 7 मिनट 44 सेकेंड का वीडियो जारी किया और बताया कि देवेंद्र की मौत बीमारी की वजह से हुई। उनके परिवार ने इलाज में लापरवाही बरती। वहीं विधायक रामबाई का अपने पति पर लगे आरोपों पर साफ कहना है कि चौरसिया परिवार चाहे तो नार्को टेस्ट या सीबीआई जांच जो चाहे करा ले हम तैयार हैं।

क्या है पूरा मामला

मामला शुरू होता है पूर्व बीएसपी नेता देवेंद्र कश्यप के कांग्रेस में शामिल होने के बाद से। क्योंकि कांग्रेस में शामिल होने की कुछ ही दिन बाद उनकी हत्या कर दी गई। जिसका आरोप सीधे तौर पर पथरिया से विधायक रामबाई के पति पर लगा और यही नहीं इस मामले में 20 आरोपी गिरफ्तार भी किये गए लेकिन रामबाई के पति देवेंद्र सिंह कश्यप फरार हो गए। जिसके बाद पुलिस ने हत्यारोपी देवेंद्र पर 25 हजार रुपए का ईनाम घोषित कर दिया। लेकिन हाल ही में जब वह विधानसभा में दिखाई दिया तो सभी हैरान रह गए कि पुलिस को चकमा देकर आखिर कोई भी व्यक्ति कैसे विधानसभा के अंदर आ सकता है। लेकिन इसके बाद तो हद हो गई जब पुलिस ने हत्यारोपी देवेंद्र पर जारी की गई इनामी राशी को निरस्त कर हत्या की दोबारा जांच कराने की बात कही।