श्री रघुनाथ मंदिर सेवा समिति ने लगाए धर्मार्थ ट्रस्ट पर गंभीर आरोप

जम्मू(राजेंद्र भगत) श्री रघुनाथ मंदिर सेवा समिति के प्रधान ठाकुर करनैल चंद ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि धर्मार्थ ट्रस्ट मंदिरों की संपत्तियों को लगातार गैरकानूनी ढंग से बेचे जा रहा है उन्होंने कहा कि समिति शुरू से यह मांग करती रही है कि धर्मार्थ ट्रस्ट के अधीन आने वाले सभी मंदिरों का एक बोर्ड गठित किया जाए जिस प्रकार श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड एवं बाबा अमरनाथ श्राइन बोर्ड चल रहा है उन्होंने कहा कि जब महाराजा ने रघुनाथ मंदिर को सरकारी विभाग के रूप में बनाया था तो उस समय सदाव्रत लंगर की प्रथा थी जहां देश-विदेश से आने वाले साधु हर समय भोजन ग्रहण कर सकते थे इसके साथ ही मंदिरों में पूजा पाठ एवं देखरेख करने वाले कर्मचारी सरकारी कर्मचारियों के बराबर वेतन एवं पेंशन इत्यादि लेते थे परंतु जब से इसे ट्रस्ट का रूप दिया गया तब से इस पर केवल एक परिवार का कब्जा हो गया तथा वह मनमाने ढंग से मंदिरों की संपत्तियों को बेचने लगे इस मौके पर समिति के अन्य सदस्य भी मौजूद थे