अपने बयान पर जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने दी सफाई, कहा- मुझे ऐसी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने पहले विवादित बयान दिया और बाद में फिर अपने ही बयान पर सफाई भी दी है। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भ्रष्ट राजनेताओं और नौकरशाहों की हत्या करने वाले बयान पर सफाई देते हुए कहा कि मुझे राज्यपाल होने के नाते ऐसी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि मैंने जो भी कहा, वह यहां लगातार बढ़ रहे भ्रष्टाचार की वजह से हताशा और गुस्से में कहा था।लेकिन मेरी सोच वही है कि यहां बहुत राजनेता और नौकरशाह भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

आपको बता दें कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा था- ‘ये लड़के जो बंदूक लिए अपने लोगों को मार रहे हैं, पीएसओ, एसडीओ को मारते हैं। क्यों मार रहे हो इनको? उन्हें मारो जिन्होंने तुम्हारा मुल्क लूटा है, जिन्होंने कश्मीर की सारी दौलत लूटी है। इनमें से भी कोई मारा है अभी? बंदूक से कुछ हासिल नहीं होगा। उन्होंने कहा, श्रीलंका में लिट्टे नामक एक संगठन था और उसे समर्थन भी था लेकिन यह भी समाप्त हो गया। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने ख्री सुल्तान चो स्पोर्ट्स स्टेडियम कारगिल में कारगिल लद्दाख पर्यटन महोत्सव -2019 के उद्घाटन पर ये विवादित भाषण दिया था। राज्यपाल ने कहा कि कारगिल और लेह के में पर्यटन की व्यापक संभावनाएं हैं और यहां इस तरह के पर्यटन उत्सवों की आवश्यकता थी।