कटनी की जवानी बर्बाद कर रहा नशा, विधायक ने उठाया विधानसभा में मुद्दा

कटनीअभी तक पंजाब और हरियाणा में ही नशाखोरी की बात सुनी जाती थी। लेकिन पिछले 5 सालों में मध्यप्रदेश में भी नशाखोरी काफी तेजी से बढ़ी है। हाल ही में शिवपुरी में स्मैक नशे के कारण एक युवति की जान चली गई। लेकिन इससे सबक नहीं सीखा जा रहा बल्कि प्रदेश के ही एक दूसरे जिले कटनी में भी नशा अब तेजी से पांव पसार रहा है। गांजा, चरस, स्मैक और ब्राउन शुगर सब कुछ कटनी में धड़ल्ले से बिक रहा है। ये सब अभी तक किसी को पता नहीं था लेकिन विधायक संदीप जायसवाल ने विधानसभा में इस मुद्दे को उठाया तो यह बात सभी को पता चल सकी। विधायक के प्रश्न के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने कटनी और नरसिंहपुर में इसके खिलाफ मुहिम तेज करने की बात कही है।

मानसून सत्र के दौरान कटनी के विधायक संदीप जायसवाल ने कटनी में बढ़ रहे अपराधों के पीछे मानसिक विकृति का जिक्र किया है। स्मैक और दूसरे प्रकार के नशे अपराध बढ़ने का कारण बन रहे हैं। जायसवाल ने कहा कि प्रदेश स्तर पर स्मैक के सप्लाई करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाये। विधायक ने कहा कि चाहे भाजपा की सरकार रही हो, चाहे नई सरकार हो हम स्मैकियों तक पहुंचने में कामयाब नहीं रहे हैं। अत: इसके लिये कठोर कार्य योजना प्रदेश स्तर पर बनाई जाये तभी कोई हल निकल पायेगा।

इन क्षेत्रों में फैल रहा है सर्वाधिक नशा…

कटनी के इन क्षेत्रों जैसे पहरुआ, भट्ठा मोहल्ला, माधवनगर, अमीरगंज में नशा सबसे ज्यादा तेजी से पांव पसार रहा है। हालात ये हैं कि जेब में स्मैक या गांजे की पुड़िया रखकर कुछ भटके हुए युवा इसका व्यापार भी कर रहे हैं और नशे की हालत में गुंडागर्दी करने पर भी उतारू हैं। जिले में सबसे ज्यादा नशाखोर कटनी रेलवे स्टेशन में देखे जा सकते हैं। हालांकि विधायक संदीप जायसवाल ने तो नशे के खिलाफ विधानसभा में अपनी बात रख दी। लेकिन अब देखना होगा कि यह बात कितना आगे जाती है और इस पर कितनी गहराई से अमल किया जाता है।