इंदौर-उज्जैन संभाग में पुलिस हिरासत में हुई 10 मौतें

भोपाल। इंदौर-उज्जैन संभाग में 1 जनवरी 2014 से 30 नवंबर 2018 तक पुलिस हिरासत में 10 मौत हुईं। इनमें से दो मामलों में पुलिसकर्मी दोषी पाए गए हैं। विधायक रवि जोशी के सवाल का लिखित जवाब देते हुए गृह मंत्री बाला बच्चन ने बताया कि छह प्रकरणों में जांच जारी है। दो अन्य मामलों में कोई पुलिसकर्मी दोषी नहीं पाया गया है।

गृह मंत्री ने विधायक रमेश मेंदोला के सवाल के लिखित जवाब में बताया कि प्रदेश के 319 थानों में महिला पुलिसकर्मियों के लिए विश्राम और प्रसाधन कक्ष का निर्माण कराया गया है। जबकि 676 थानों में जहां महिलाओं के लिए विशेष कक्ष नहीं हैं, वहां महिला पुलिसकर्मियों और महिला फरियादियों के लिए अलग कक्ष, पेयजल और प्रसाधन कक्ष के निर्माण के लिए 40.89 करोड़ रुपए से ज्यादा की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश के 22 थानों में महिलाओं के लिए विशेष कक्ष बनाए जा चुके हैं। प्रदेश के 509 थानों का काम जारी है और 145 थानों में महिलाओं के लिए विशेष कक्ष के निर्माण के लिए शुरुआती कार्रवाई की जा रही है।