डॉ. रेणु जैन बनीं देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की नई कुलपति

इंदौर। डॉ. रेणु जैन को देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर का नया कुलपति बनाया गया है। राजभवन की ओर से इसका आदेश जारी कर दिया गया है। डॉ जैन डीएवीवी की पहली महिला कुलपति हैं। डॉ रेणु जैन ग्वालियर की हैं और उनके कुलपति बनाए जाने के बाद यूनिवर्सिटी में पिछले एक माह से चल रहा संकट समाप्त हो गया है। प्रदेश सरकार द्वारा सीईटी परीक्षा में गड़बड़ी को लेकर धारा-52 का प्रयोग करते हुए 24 जून 2019 को कुलपति प्रो. नरेंद्र धाकड़ को हटा दिया था। राजभवन और सरकार के बीच जारी असमंजस और असहमति में देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के कुलपति का फैसला अटका हुआ था।

ऐसा पहली बार हुआ था कि सरकार के भेजे गए नामों की पैनल एक से ज्यादा बार राजभवन से लौटा दी गई। सरकार की कोशिशों के बावजूद कुलाधिपति ने किसी भी नाम को मंजूरी नहीं दी थी। इस बीच अटकी सीईटी और शुरू हुए विरोध के बाद सरकार बुधवार को सक्रिय हुई। बुधवार को उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने मुद्दे पर भोपाल में विशेष बैठक ली थी। डॉ जैन को कुलपति बनाए जाने के आदेश जारी होने के बाद पूर्व कार्यपरिषद सदस्य की भूख हड़ताल तुड़वाने के लिए विवि के अधिकारी पहुंचे।