मंदिर, मस्जिद व गुरुद्वारे बिना इजाजत नहीं चला सकेंगे लाऊड स्पीकर

चंडीगढ़: बढ़ते ध्वनि प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए हाईकोर्ट ने महत्वपूर्ण आदेश जारी कर मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारे में बिना लिखित इजाजत लाऊड स्पीकर के इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी है। अगर इसके लिए इजाजत मिल भी जाए तो यह सुनिश्चित करना जरूरी होगा कि लाऊड स्पीकर की ध्वनि 10 डैसीबल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इसे सुनिश्चित किए जाने के लिए हाईकोर्ट ने इसके लिए पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के सभी डी.जी.पी., डी.सी., एस.एस.पी./एस.पी. को आदेश दिए हैं।

जस्टिस राजीव शर्मा एवं हरिंदर सिंह सिद्धू की खंडपीठ ने इसके अलावा पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ को आदेश दे दिए हैं कि रात 10 से सुबह 6 बजे तक लाऊड स्पीकर और म्यूजिक सिस्टम चलाने पर पाबंदी होगी। इसमें हल्की-सी छूट देते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि पूरे एक साल में सिर्फ 15 दिनों के लिए किसी धार्मिक या सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए रात 10 से 12 बजे के दौरान लाऊड स्पीकर या म्यूजिक सिस्टम चलाने की छूट दी जा सकती है। बशर्ते कि ध्वनि 10 डैसीबल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। हाईकोर्ट ने साफ किया कि किसी भी किस्म के धार्मिक आयोजनों, शादियों और शिक्षण संस्थानों में किसी भी तरह के हथियारों पर पूरी तरह से पाबंदी होगी।

लाइसैंसिंग अथॉरिटी यह सुनिश्चित करे कि हथियार रखने का लाइसैंस देते समय लाइसैंस लेने वाले की आयु 21 वर्ष से कम न हो। वहीं ऐसा कोई भी व्यक्ति जिसे किसी भी आपराधिक और नैतिक पतन के मामले में कोर्ट दोषी करार दे चुकी है, उसे हथियार का लाइसैंस न दिया जाए। हाईकोर्ट ने किसी भी लाइव शो और पब्लिक प्लेस पर ऐसे गानों के गाए जाने और बजाने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी है, जिनमें अश्लीलता, हिंसा, शराब और अन्य नशों को प्रोत्साहित किया गया हो। इसके साथ ही शिक्षण संस्थानों के करीब अर्धनग्न पोस्टर या ऐसी किसी भी सामग्री के प्रदर्शित किए जाने पर पाबंदी लगा दी गई है।

हाईकोर्ट ने पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ को आदेश दे दिए हैं कि स्कूलों, कालेजों, विश्व विद्यालयों और अन्य शिक्षण संस्थानों की वार्षिक परीक्षाएं शुरू होने से 15 दिन पहले किसी भी लाऊड स्पीकर के चलाए जाने की इजाजत नहीं दिए जाने के भी आदेश दे दिए हैं। हाईकोर्ट ने आदेश दिए हैं कि पुलिस यह सुनिश्चित करे कि बाइक का साइलैंसर सही हो। मोडिफाई किए साइलैंसर और उनसे होने वाले ध्वनि प्रदूषण पर कार्रवाई किए जाने के भी आदेश दे दिए गए है।