मेरे इलाके में कैमरे लगवाओ, नहीं तो धरने पर बैठूंगी : अलका लांबा

नई दिल्ली: एक तरफ जहां भाजपा लगातार दिल्ली सरकार की नीति और कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर रही है। वहीं आप पार्टी की बागी विधायक अलका लांबा के सुर और उग्र हो गए हैं। विधायक लांबा ने चांदनी चौक  विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्य और खुद की अनदेखी करने का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व दिल्ली सरकार पर आरोप लगाया है। साथ ही अल्टीमेटम भी दिया है कि यदि 10 दिन के भीतर उनके क्षेत्र में सीसीटीवी लगाए जाने का कार्य फिर से आरम्भ नहीं हुआ तो वह सीएम आवास के बाहर धरना देने को मजबूर होंगी। पार्टी की प्राथमिक सदस्यता भी त्याग सकती हैं। उल्लेखनीय है कि बागी विधायक कपिल मिश्रा भी लगातार दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर अपने ट्वीट के माध्यम से निशाना साधते रहते हैं। पार्टी में खुद को लगभग दरकिनार मान चुकी विधायक अलका लांबा भी पूरी तरह से अपने बागी तेवर दिखाने लगी हैं।

लांबा का कहना है कि सीएम की मौजूदगी में पार्टी के अंदर महिलाओं के साथ होने वाले व्यवहार से भी वह निराश हैं। उन्होंने कहा कि उनके विधानसभा क्षेत्र चांदनी चौक में जो सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने थे, वह कार्य भी शुरू होने के बाद रुका पड़ा है। लांबा के अनुसार जब संबंधित विभाग में उन्होंने कार्य रुकने की वजह पूछी तो उन्हें बताया गया कि चांदनी चौक का इलाका को प्राथमिकता नहीं दी गई है। इसी वजह से यह कार्य रुका है।

लांबा ने अपने ट्वीट के माध्यम से कहा है कि 14 जुलाई को पहला सीसीटीवी कैमरा उनकी विधानसभा क्षेत्र चांदनी चौक में लगा, उसके बाद से आज तक दूसरा कैमरा नहीं लग पाया, अगर जल्द दोबारा काम नहीं शुरू करवाया गया तो केजरीवाल जी के घर बाहर उन्हीं की स्टाइल में अपनी जनता के लिए धरना दूंगी। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल बदले की भावना से काम कर रहे हैं,जिसका खामियाजा चांदनी चौक क्षेत्र की जनता को उठाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा लगवाए जा रहे सीसीटीवी कैमरों के कार्य को रुकवाकर आप (आम आदमी पार्टी) यह कैसी राजनीति का उदाहरण पेश करना चाहती है।

दूसरी तरफ एनएसयूआई की पूर्व अध्यक्ष व एआईसीसी सदस्य अमृता धवन सहित कई अन्य महिलाएं भी उनके समर्थन में आ गई हैं। अमृता धवन ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि वह भी उनके धरने में शामिल रहेंगी। उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा कि जो जिस भाषा में समझता है, उसको उसी में समझाना चाहिए। सीसीटीवी बेहद जरूरी है।