मित्रपुरा — शराब पीकर स्कूल पहुंचा शिक्षक

मित्रपुरा/ सवाई माधोपुर
(राकेश चौधरी)

मित्रपुरा— उप तहसील  के उदगांव राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में शनिवार सुबह  शारीरिक शिक्षक श्योराज मीणा और ग्रामीणों के बीच कहासुनी हो गई ।  ग्रामीणों ने बताया कि हमें बच्चों की शिकायत मिल रही थी की स्कूल में पोषाहार के  लिए जो दूध लाया जाता है। उसको रोज नाली में बहा दिया जाता है और हमारे जो शारीरिक शिक्षक  श्योराज मीना रोज विद्यालय समय  पर शराब पीकर विद्यालय आता हैं। इस पर ग्रामीण व अभिभावक स्कूल में पहुंचे जहां पर ग्रामीणों का आरोप है कि विद्यालय में शारीरिक शिक्षक श्योराज मीणा शराब पीकर नशे में मिला । जब ग्रामीण ने बच्चों की सुनी हुई शिकायत पर ग्रामीण व अभिभावकों ने शिक्षक से पूछताछ की तो वह अभिभावकों और ग्रामीणों से उलझ गया।  इस बात को लेकर ग्रामीणों  ने सीबीईओ को जानकारी दी ग्रामीणों की शिकायत पर सीबीईओ ने तुरंत जांच अधिकारी भेजने  के लिए कहा लेकिन जांच अधिकारी के पहुंचने से पहले ही विद्यालय से शारीरिक शिक्षक भाग छूटा ।
ग्रामीण शंकर लाल पोसवाल ने बताया कि बच्चों की शिकायत हमे कई दिनों से मिल रही थी कि स्कूल में दूध को नालियों में बहाया जाता हैऔर हमारे विद्यालय में हमारे जो शारीरिक शिक्षक हैं वह शराब पीकर आता हैं। इस पर हम लोग स्कूल परिसर में पहुंचे और तब उनसे इन बारे में जानकारी पाने की कोशिश की तो हम से ही उलझ गए और आज सुबह सुबह भी उन्होंने शराब पी रखी थी जो उनके मुंह से शराब की  बहुत तेज दुर्गंध आ रही थी। मैंने जब कार्यवाहक प्रधानाचार्य रूपनारायण  मीना   को शारीरिक शिक्षक के मुंह से शराब की दुर्गंध  सूंघने के लिए कहा और वह आगे बडे तो शारीरिक शिक्षक पीछे हट गया ओर विद्यालय से भाग गया ।

इनका कहना।

  कार्यवाहक प्रधानाचार्य रूप नारायण मीणा

  मैंने देखा  अभिभावक शंकर और शरीरिक शिक्षक कुछ चर्चा कर रहे थे।अभिभावक  कह रहे थे कि आप शराब पीकर आए हो और आप 3 साल से बच्चों को कुछ भी खेल नहीं खिलाया और इस विद्यालय में किसी भी बच्चे के पास 3 साल के अंदर कोई भी किसी भी खेल का सर्टिफिकिट तक नहीं है। आप विद्यालय के प्रति सक्रिय होकर काम नहीं करते हो और पीटीआई जी कह रहे थे मैं बच्चों को खेल खिलाता हूं और शराब पीकर नहीं आया फिर अभी अभिभावकों  ने कहा कि आप देखो तो मैं जैसे ही पीटीआई जी के नजदीक जाने की कोशिश की तो उनके पैर पीछे हट गए इसके बाद वह बिना अवकाश स्वीकृत कराए बिना अपनी इच्छा से विद्यालय छोड़कर भाग गए और बाद में मैंने फोन से संपर्क करने की कोशिश की तो उनका फोन बंद आ रहा था । इतनी देर में जांच अधिकारी जी आ गए तो मैंने रिपोर्ट बनाकर जांच अधिकारी जी को दे दी

इनका कहना।
जांच अधिकारी
जगमोहन मीणा
गांव के अभिभावक व शिकायत करता हूं कि रिपोर्ट व समस्त अध्यापकों  व संस्था प्रधान की रिपोर्ट लेकर अध्यात्मिक रिपोर्ट बनाऊंगा ।अगर यह सही है तो तुरंत कार्रवाई के लिए उच्च अधिकारी को भिजवाई जाएगी।