ऑपरेशन सद्भावना के तहत सेना स्थानीय युवकों को दे रही सैनिक परीक्षण

राजौरी (दिनेश ठाकुर) सेना जम्मू कश्मीर में स्थानीय युवकों को सेना में भर्ती होने के लिए प्रेरित करने के साथ साथ उन्हें खेलों के प्रति जागरूक एवँ उच्च शिक्षा इत्यादि उपलब्ध कराने के प्रयास में लगी है सेना की 60 आरआर नागा यूनिट ने कारगिल विजय दिवस के उपलक्ष में कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें 200 स्थानीय बच्चों को दौड़ के लिए चुना जिसमें 10 प्रथम आने वाले बच्चों को पुरस्कृत करने करने के साथ-साथ उन्हें सेना द्वारा शिक्षा एवं सेना में भर्ती होने का मौका भी दिया जाएगा सेना ने मुहिम छेड़ी है जिसमें वह बच्चों को आह्वान कर रही है कि वह यदि चाहे तो सेना उनके लिए उच्च शिक्षा उनके रहन-सहन तथा उन्हें सेना की ट्रेनिंग इत्यादि देगी जिससे कि वह अपने उज्जवल भविष्य को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं सेना का मानना है कि इन क्षेत्रों में जहां शिक्षा का स्तर काफी कम है तथा पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं कर सकते जिस कारण घाटी में सक्रिय अलगाववाद से जुड़े लोग उन्हें बरगलाने का मौका तलाशते रहते हैं ऑपरेशन सद्भावना के तहत सेना ने क्षेत्र के नागरिकों में विश्वास की भावना उत्पन्न की है जिसमें वह समय-समय पर केंद्र सरकार की योजनाओं को अमलीजामा पहनाने में सेना सहयोग करती है नागरिकों के स्वास्थ्य उनकी सुरक्षा सड़क एवं स्कूलों की हालत सुधारना इत्यादि सेना अपने बल पर कर रही है सेना स्थानीय बच्चों को उनका भविष्य तलाशने में तरह-तरह के मौके उपलब्ध करा रही है इसी तरह सेना ने डेढ़ सौ बच्चों के लिए एक अलग से कैंप तैयार किया है जिसमें बच्चे सेना के पास रहकर शिक्षा प्राप्त करते हैं तथा इसके साथ ही सेना की ट्रेनिंग में भी हिस्सा लेकर एक अच्छा सैनिक बनने के गुर भी सीख रहे है