…तबै कमलनाथ नाम कहाऊं, मध्यप्रदेश के CM की तारीफ में गुरु गोविंद सिंह की रचना, सिख समुदाय में रोष

भोपाल: सीएम कमलनाथ की एक तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। इस पोस्ट में कमलनाथ की फोटो के साथ लिखा है, “सवा लाख से एक लड़ाऊं, चिड़िया से मैं बाज तुड़ाऊं, तबै कमलनाथ नाम कहाऊं।” ये पंक्तियां सीएम कमलनाथ की तारीफ में लिखी गई है। इस पोस्ट के वायरल होते ही सिख समुदाय भड़क उठा है और सीएम कमलनाथ के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठाई है।

इन पंक्तियों के रचयिता सिखों के दसवें गुरु गुरु गोविंद सिंह जी को माना जाता है। इस रचना को लेकर सिख समुदाय भावानात्मक लगाव रखता है। सीएम कमलनाथ के नाम के साथ इस रचना को जोड़ने से सिख समुदाय से आने वाले बीजेपी नेता भड़क गए हैं। उन्होंने कार्रवाई की मांग की है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्वीट कर कमलनाथ की सोशल मीडिया टीम पर कार्रवाई की मांग की है। सिरसा ने लिखा है कि सिखों के नरसंहार में शामिल व्यक्ति के लिए ये पंक्तियां आखिर कैसे लिखी गई हैं।

मनजिंदर सिंह सिरसा ट्वीट में लिखा कि, ‘सीएम कमलनाथ पर गंभीर आरोप है, फिर भी उनकी सोशल मीडिया टीम ने गुरुवाणी का अनादर किया है, इन लोगों ने इन पंक्तियों का इस्तेमाल ऐसे शख्स के लिए किया है जिस पर 1984 के सिख दंगों में शामिल रहने का आरोप है, हम लोग कमलनाथ के सोशल मीडिया टीम के खिलाफ सख्त कार्रवाई चाहते हैं, इस तरह के आपत्तिजनक पोस्ट के लिए सख्त कार्रवाई होनी चाहिए’।

PunjabKesari

वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया में सीएम कमलनाथ के नाम से विवादित पोस्ट के वायरल होने के बाद कांग्रेस में हलचल मच गई है। भोपाल में साइबर सेल एसपी को लिखी गई चिट्ठी में कांग्रेस ने इस पोस्ट से किनारा कर लिया है और कहा है कि ये पोस्ट ना तो कांग्रेस के किसी कार्यकर्ता या पदाधिकारी की है और ना ही सीएम कमलनाथ की ओर से अधिकृत किसी व्यक्ति ने लिखी है।