मकान तलाशने गई युवतियों को ‘बच्चा चोर’ समझ भीड़ ने पीटा

इंदौर। बायपास स्थित ओमेक्स सिटी-1 में शुक्रवार रात बच्चा चोरी की अफवाह फैल गई। लोगों ने दो युवतियों को पीट-पीटकर घायल कर दिया। दोनों बहनें हैं और किराए से मकान तलाशने गई थीं। पुलिस ने उनके खिलाफ भी एक बच्ची को पीटने और तोड़फोड़ करने का मुकदमा दर्ज किया है। आरोप है कि वे नशे में थीं।

लसूड़िया टीआई संतोष दूधी के मुताबिक, घटना रात करीब 8.30 बजे की है। देवकी नगर (वेलोसिटी के पीछे) निवासी मिली तोमर (28) बहन जोया के साथ मकान तलाशने गई थी। तभी एक लड़का और लड़की ने उन्हें ताना मारा और सरकारी क्वार्टर की ओर भाग गए। मिली और जोया उनका पीछा करते हुए वहां पहुंचीं तो लोगों ने घेर लिया। उनसे कहा कि कॉलोनी में किसलिए आई हो। उन्हें गालियां दी और मारपीट शुरू कर दी। मिली को लोहे की रॉड से जमकर पीटा। प्रत्यक्षदर्शी राजेश सिंह के मुताबिक, लोगों ने आरोप लगाया कि वह बच्चा चुराने की कोशिश कर रही थीं। एक बच्ची को पकड़ लिया था। बच्ची उनसे हाथ छुड़ाकर भागी और मां को घटना बताई। दोनों युवतियां नशे में भी थीं।

बेटी को पकड़ा और पीटा, घर में घुसकर तोड़फोड़ की

पुलिस ने 34 वर्षीय टीना धीरज कछवाह निवासी ओमेक्स सिटी की शिकायत पर भी केस दर्ज किया है। उसने कहा कि दो युवतियां शराब के नशे में आईं और बेटी जान्हवी को पकड़ लिया। बच्ची का आरोप है कि वहां एक कार भी खड़ी थी। उसमें कुछ युवक भी थे। उन्होंने जबरदस्ती कार में बैठाने का प्रयास किया। टीना दौड़कर बचाने पहुंची और कहा कि बेटी को क्यों मार रहे हो। टीना बेटी को बचाकर ले गई और पड़ोसी निशा यादव के घर में घुस गई। दोनों युवतियां भी निशा के घर में घुस गई और टीवी, फ्रिज, सेट टॉप बॉक्स तोड़ दिए। विवाद में टीना का मंगलसूत्र और टॉप्स भी गिर गए। आरोप है कि युवतियों ने निशा का गला घोंटकर हत्या का प्रयास भी किया।