Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha
बिजनेस

बिजनेस (10)

नई दिल्ली। राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एन.सी.एल.ए.टी.) ने गूगल की एक अंतरिम याचिका पर आज अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। एन.सी.एल.ए.टी. के चेयरमैन न्यायाधीश एस. जे. मुखोपाध्याय की अध्यक्षता वाली पीठ ने आयोग के आदेश को चुनौती देने वाली गूगल की याचिका पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया है।

गूगल ने यह याचिका भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सी.सी.आई.) द्वारा लगाए गए 136 करोड़ रुपए के जुर्माने को चुनौती देते हुए दायर की थी। इस साल फरवरी में आयोग ने गूगल पर भारतीय बाजार में ऑनलाइन सर्च में अनुचित कारोबारी प्रक्रियाओं को अपनाने के चलते 136 करोड़ रुपए के जुर्माने का आदेश दिया था। आयोग ने गूगल के खिलाफ 135.86 करोड़ रुपए का यह जुर्माना 2012 में उसके विरुद्ध दायर की गई ‘अविश्वासी आचरण’ की शिकायतों के आधार पर लगाया था। यह कंपनी के भारतीय परिचालन से विभिन्न कारोबारों से 2013, 2014 और 2015 में हुई कुल औसत आय के 5 प्रतिशत के बराबर है। इस संबंध में गूगल के खिलाफ मैट्रिमोनी डॉट कॉम और कंज्यूमर यूनिटी एंट ट्रस्ट सोसायटी ने शिकायत दायर की थी।  

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में जारी बढ़ोतरी का असर देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर दिख रहा है। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों ने सरकार और आम जनता को चिंता में डाल दिया है। पेट्रोल-डीजल के दाम 55 महीने की रिकॉर्ड ऊंचाई पर बने हुए हैं।

55 महीनों की रिकॉर्ड ऊंचाई पर दाम
आज राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 74.08 रुपए प्रति लीटर की दर से बिक रहा है वहीं मुंबई में पेट्रोल के दाम 81.93 रुपए प्रति लीटर हैं। डीजल ने यहां 65.31 रुपए का आंकड़ा छू लिया है। इससे पहले सितंबर 2013 में दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 76 रुपए तक पहुंची थी। वहीं कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 76.78 रुपए और चेन्नई में 76.85 रुपए है।

70 के करीब पहुंचा डीजल
डीजल की क़ीमत दिल्ली में 65.31 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गई है। डीजल इतना महंगा पहले कभी नहीं हुआ है। सबसे महंगा डीजल भी मुंबई में है, जो 70 रुपए प्रति लीटर के करीब पहुंच गया है। मुंबई में डीजल 69.54 रुपए प्रति लीटर है। कोलकाता में 68.01 रुपए और चेन्नई में यह 68.90 रुपए प्रति लीटर रही।

क्योें बढ़ रही कीमतें
कच्चे तेल की कीमतें पिछले तीन साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई हैं। इंडियन बास्केट में कच्चे तेल की कीमतों में 92 सेंट की बढ़ोतरी हुई है। इस बढ़ोतरी के साथ यह 70.12 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है। कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने के लिए अमेरिका में क्रूड ऑयल इन्वेंट्रीज में कमी बताई जा रही है।

नई दिल्ली। विवाह-शादी के मौसम में शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में रुपए के लिए हाहाकार मचा है। ए.टी.एम. में ताले लगने के बाद अब बैंकों की शाखाओं में भी नकदी की किल्लत हो गई है। ग्राहक ए.टी.एम. कार्ड लेकर दर-दर भटक रहे हैं। ग्राहक अपना ही जमा किया गया पैसा जरूरत पड़ने पर निकाल नहीं पा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ शाखाएं तो कैश देने से साफ मना कर रही हैं और कुछेक निश्चित रकम तक का ही भुगतान कर रही हैं। शहर की मुख्य व बड़ी शाखाएं बाजार के भरोसे चल रही हैं।

छोटी शाखाओं में स्थिति गंभीर 
अब कहा जा रहा है कि फाइनैंशियल रैजोल्यूशन एंड डिपॉजिट इंश्योरैंस बिल को लेकर आशंकाओं के चलते लोगों ने 2000 और 500 के नोटों को अपने पास होल्ड करके रख लिया है। सरकार ने देश के कई हिस्सों में नोट की किल्लत को खत्म करने के लिए सप्लाई और छपाई दोनों तेज कर दी हैं। पिछले 4 दिन से शहर व गांवों में कैश की कमी खुलकर सामने आ गई है। नकदी की कमी से प्रभावित इलाकों में दूर-दराज की छोटी शाखाएं खासी प्रभावित हो रही हैं।

एक सप्ताह तक रहेगी किल्लत
सरकार का कहना है कि इसे सामान्य करने में एक हफ्ता लगेगा। यानी अगला एक हफ्ता देशवासियों पर भारी पड़ेगा। नागरिकों को एक बार फिर देश के लिए कैशलैस होना पड़ेगा। परेशानी वाली बात यह है कि इस बार भी कैश की किल्लत तब शुरू हुई है जबकि शादियों का सीजन शुरू हो गया है। बाजार में इन दिनों में सबसे ज्यादा कैश फ्लो आता है। 

मुंबई। एयर इंडिया के स्टाफ का मोबाइल फोन एयरक्राफ्ट में छूटने से फ्लाइट 2 घंटे लेट हो गई। दरअसल एयर इंडिया की फ्लाइट लंदन के हीथ्रो से अहमदाबाद के लिए उड़ान भरने वाली थी लेकिन कमांडर को पता चला कि ग्राऊंड स्टाफर का मोबाइल एयरक्राफ्ट में ही रह गया है। कमांडर को फोन की जरूरत का एहसास हुआ और उसने इसे वापस मालिक को लौटाने की ठानी। इसके बाद फ्लाइट अटैंडैंट ने दरवाजा खोला और फोन ग्राऊंड स्टाफर को लौटाया। इस पूरी प्रक्रिया में फ्लाइट करीब 2 घंटे लेट हो गई। यह पहला केस है जिसमें नोमोफोबिया के चलते फ्लाइट 2 घंटे लेट हो गई।

नोमोफोबिया एक बीमारी जैसी है जिसमें मोबाइल के न होने पर डर लगता है। घटना 18 मार्च की है। यह मोबाइल मैंटेनैंस इंजीनियर का था। वह फ्लाइट के उड़ान भरने से पहले चैकिंग करने अंदर आया था। जब कमांडर को मोबाइल छूटने की सूचना मिली तो उसने इसकी जानकारी ग्राऊंड स्टाफ को इंजीनियर को देने के लिए कहा। इसके बाद उसने कैबिन क्रू इंचार्ज को दरवाजा खोलकर बाहर फोन फैंकने के लिए कहा। इसके बाद वह आसानी से तकिए पर गिर गया।

नई दिल्ली। रेल में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए रेलवे ने बड़ी राहत दी है। खबर है कि रेलवे कई ट्रेनों के टिकट के किराए को कम करने जा रहा है। जिनमें राजधानी, शताब्दी और दूरंतो एक्सप्रैस ट्रेन शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे की तरफ  से मिलने वाले खाने पर टैक्स कम कर दिया गया है जिसकी वजह से टिकट रेट में कमी की गई है। बता दें कि वित्त मंत्रालय ने आदेश जारी किया था कि ट्रेन और प्लेटफॉर्म पर मिलने वाले फूड और ड्रिकिंग वॉटर पर जी.एस.टी. की समान दर लागू की जाए।

रेलवे के मुताबिक अब इस टैक्स कटौती के बाद राजधानी, शताब्दी और दूरंतो के फस्र्ट ए.सी. और चेयर कार में ब्रेकफास्ट 90 रुपए में मिल जाएगा और सैकेंड और थर्ड ए.सी. सहित चेयर कार में यह 70 रुपए में मिल जाएगा, जबकि दूरंतो के स्लीपर में 40 रुपए में ब्रेकफास्ट मिल जाएगा। 

नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवा कर (जी.एस.टी.) के तहत हर महीने 3 रिटर्न भरने की जटिल प्रक्रिया को सरल बनाने का काम जारी है और सभी राज्य इसके लिए हर महीने एक रिटर्न भरने की व्यवस्था किए जाने पर सहमत हुए हैं। जी.एस.टी. रिटर्न सरलीकरण के संबंध में गठित मंत्रियों के समूह की आज यहां हुई बैठक में अधिकांश राज्यों ने जी.एस.टी. के लिए एक ही 2 मासिक रिटर्न का समर्थन किया। बैठक के बाद इस समूह के अध्यक्ष एवं बिहार के उपमुख्यमंत्री तथा वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि रिटर्न सरलीकरण का काम जारी है और जीएसटी परिषद इस पर अंतिम निर्णय लेगी। उन्होंने कहा कि महीने में एक ही रिटर्न भरने की व्यवस्था किए जाने पर एक राय बनी है। अब तक हर महीने 3 जी.एस.टी. रिटर्न भरने की व्यवस्था है लेकिन फिलहाल जीएसटीआर1 और जीएसटीआर 2 को स्थगित रखा गया है। अभी जीएसटीआर 3बी के जरिए जीएसटी रिटर्न भरा जा रहा है और जब तक नई व्यवस्था को अंतिम रूप नहीं दे दिया जाता और इसके लिए नए फॉर्म नहीं आ जाते, तब तक यह व्यवस्था जारी रहेगी।

मोदी ने कहा कि जीएसटी रिवर्स चार्ज मैकेनिज्म (आरसीएम) पर अभी चर्चा जारी है और मई में होने वाली समूह की अगली बैठक में इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब तक सभी मॉडलों के बेहतर अंश को लेकर एक नया रिटर्न मॉडल बनाने पर सहमति बनी है लेकिन अधिकांश राज्यों ने अस्थायी रिफंड क्रेडिट जारी रखने का पक्ष लिया है। इसके साथ ही कुछ राज्यों ने जी.एस.टी. कर रिफंड की प्रक्रिया को सरल बनाने की वकालत की है। 

नई दिल्ली। कोटक महिंद्रा बैंक ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एस.बी.आई.) को दूसरे से तीसरे स्थान पर धकेल दिया है। बाजार पूंजीकरण के लिहाज से अब कोटक महिंद्रा बैंक देश का दूसरा बड़ा बैंक बन गया है। 

कोटक महिंद्रा बैंक की मार्केट कैप में बढ़ोतरी
सोमवार को शेयर बाजार में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शेयर ने 247.50 रुपए का निचला स्तर छुआ जिस वजह से उसका बाजार पूंजीकरण घटकर 2.223 लाख करोड़ रुपए रह गया था, इस दौरान कोटक महिंद्रा बैंक के शेयर का भाव बढ़कर 1170.15 रुपए तक गया और उसका बाजार पूंजीरण 2.226 लाख करोड़ तक पहुंच गया। बाजार पूंजीकरण के लिहाज से एच.डी.एफ.सी. बैंक देश का सबसे बड़ा बैंक बना हुआ है, सोमवार को  एच.डी.एफ.सी. बैंक का मार्केट कैप 5 लाख करोड़ रुपए के ऊपर दर्ज किया गया है।

ये हैं देश के टॉप 10 बैंक
बाजार पूंजीकरण के लिहाज से देखा जाए तो देश के 10 बड़े बैंकों में सिर्फ 3 सरकारी बैंक आते हैं और बाकी 7 बैंक निजी क्षेत्र के बैंक हैं, पहले नंबर पर एच.डी.एफ.सी. बैंक, दूसरे नंबर पर कोटक महिंद्रा बैंक, तीसरे नंबर पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, चौथे पर 1.85 लाख करोड़ मार्केट कैप के साथ आई.सी.आई.सी.आई. बैंक, पांचवें पर 1.37 लाख करोड़ मार्केट कैप के साथ एक्सिज बैंक, छठे पर 1.12 लाख करोड़ बाजार पूंजीकरण के साथ इंडसइंड बैंक, सातवें पर 71 हजार करोड़ के साथ यश बैंक, आठवें पर करीब 40 हजार करोड़ के साथ बैंक ऑफ बड़ौदा, नौवें पर करीब 27 हजार करोड़ मार्केट कैप के साथ पंजाब नैशनल बैंक और 10वें पर करीब 21 हजार करोड़ रुपए की मार्केट कैप के साथ आर.बी.एल. बैंक है।

नई दिल्‍ली।  कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) के 5 करोड़ अंशधारकों के लिए राहत की खबर है। ईपीएफओ ने 10 लाख रुपए से अधिक के क्लेम विथड्रॉल के लिए ऑनलआन क्लेम करने का फैसला वापिस ले लिया है। अब कोई भी अंशधारक इसके क्लेम को ऑफलाइन भी कर सकेगा। ऑनलाइन क्‍लेम फाइल करने में ईपीएफ मेंबर्स और इंटरनेशनल वर्कर्स को आ रही दिक्‍कतों के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है।

EPFO ने जारी किया निर्देश
ईपीएफओ ने एक सर्कुलर में अपने सभी ऑफिस को पीएफ क्‍लेम को लेकर नए निर्देश जारी किए हैं। इससे पीएफ क्‍लेम के सभी मामलों में ऑफलाइन आवेदन स्‍वीकार किया जाएगा। सर्कुलर में कहा गया है कि ऑनलाइन क्‍लेम में किसी तरह की धोखाधड़ी को रोकने के लिए पीएफ के सभी ऑनलाइन क्‍लेम को वेरीफिकेशन के लिए इम्‍पलॉयर के पास भेजा जाएगा। इसके बाद ही क्‍लेम का सेटेलमेंट होगा। इम्‍पलॉयर को ईपीएफओ से क्‍लेम मिलने के तीन दिन के अंदर क्‍लेम को स्‍वीकार करके या खारिज करके वापस करना होगा।

पहले लिया गया था यह फैसला
इससे पहले 28 फरवरी को ईपीएफओ ने एक निर्देश जारी कर कहा था कि अगर आपके प्रॉविडेंट फंड (पीएफ) अकाउंट में 10 लाख रुपए से ज्यादा हैं तो आपको क्‍लेम सेटलमेंट के लिए ऑनलाइन अप्लाई करना होगा। इसके लिए ईपीएफओ अब फिजिकल फॉर्म मंजूर नहीं करेगा। क्लेम में धोखाधड़ी को रोकने के मकसद से यह कदम उठाया गया था। 

नई दिल्ली। गरीबों को रसोई गैस उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की सफलता के मद्देनजर सरकार 20 अप्रैल को उज्ज्वला दिवस मनाएगी। उज्ज्वला दिवस के तहत पूरे देश में 15,000 एलपीजी गैस एजेंसियो द्वारा अपने निकटतम गावों में एलपीजी पंचायतों का आयोजन किया जाएगा जिसमें एलपीजी से जुड़ी विभिन्न जानकारियों के साथ ही उज्ज्वला योजना और रसोई गैस के सुरक्षित उपयोग के बारे में बताया जाएगा। उज्ज्वला दिवस पर इस योजना के तहत नए रसोई गैस कनेक्शन दिए जाएंगे। नए एलपीजी कनेक्शन सार्वजनिक उपक्रम के गैस वितरक द्वारा दिए जाएंगे जिसमें हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन (एचपीसीएल), इंडियन ऑयल कार्पोरेशन (आईओसीएल) और भारत पेट्रोलियम कार्पोशन (बीपीसीएल) शामिल हैं।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना एक मई 2016 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से शुरू की थी। इस योजना के अंतर्गत 23 महीनों में पूरे भारत में 3 करोड़ 56 लाख से ज्यादा एलपीजी कनेक्शन गरीब परिवारों की महिलाओं को दिए गए हैं। इस योजना की मदद से पूरे देश में एलपीजी इस्तेमाल करने वालो का प्रतिशत एक अप्रैल 1026 के 61.9 प्रतिशत की तुलना में एक अप्रैल 2018 को बढ़कर 80.9 प्रतिशत हो गया है। 

नई दिल्ली। दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी रिलायंस जियो ने 3,250 करोड़ रुपए के सावधिक समुराई ऋण जुटाने के लिए जापान के बैंकों के साथ करार किया है। समुराई ऋण ऐसे ऋण को कहा जाता है जो जापानी बैंक कम ब्याज दर पर देते हैं।

कंपनी ने जारी बयान में कहा, ‘‘रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड ने करीब 53.5 अरब येन का सावधि ऋण जुटाने का करार किया है जो सात साल में परिपक्व होगा। इसके लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने गारंटी दी है और इसका इस्तेमाल रिलायंस जियो के पूंजीगत खर्चों की पूर्ति के लिए किया जाएगा।’’ 60 पैसे प्रति येन की विनिमय दर पर ऋण की कुल राशि करीब 3,248 करोड़ रुपए होगी। बयान में कहा गया, ‘‘यह किसी एशियाई कंपनी को दिया गया सबसे बड़ा समुराय ऋण है।’’

कंपनी ने कहा है कि उसे यह ऋण सुविधा मिजुहो बैंक लिमिटेड, एमयूएफजी बैंक लिमिटेड और सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉरपोरेशन की सिंगापुर शाखा से मिलेगी। इसके लिए ये बैंक जल्दी ही सामूहिक तालमेल बिठाएंगे।’’ कंपनी के निदेशक मंडल ने करीब 20 हजार करोड़ रुपए का ऋण जुटाने को पिछले ही महीने मंजूरी दी थी। कंपनी ने मोबाइल कारोबार में दो लाख करोड़ रुपए से अधिक निवेश किया है जिससे उसे 16.8 करोड़ उपभोक्ता मिले हैं। रिलायंस जियो इस समय 4जी सेवाएं दे रही है। उसका कहना है कि वह भविष्य में अपने नेटवर्क को मोबाइल संचार की 5जी और 6जी प्रौद्योगिकी के लिए बहुत आसानी से उन्नत कर लेगी।  

Visitor Counter

Today 1

Week 749

Month 838

All 838

Currently are 229 guests and no members online

Facebook LikeBox

Post Gallery

नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप

एबीवीपी का सदस्यता अभियान

कश्मीर में शूटिंग करते सलमान खान की ये तस्वीरें हुर्इ वायरल

मैं कभी कास्टिंग काउच का शिकार नहीं हुआ - रणबीर कपूर

Asaram Verdict: रेप पीड़िता के पिता बोले, न्‍याय मिला

मोदी-माल्या पर शिकंजा कसेगी ED, नए अध्यादेश के तहत होगी संपत्ति कुर्क

भगवान बनकर लोगों को लूटने वाले ये चार बाबा भी हैं सलाखों के पीछे

नाबालिग से रेप केस में आसाराम को उम्रकैद, फैसला सुनते ही फूट-फूट कर रोया

आसाराम न्यायालय मे सजा सुनते ही रो पडा