Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha
Super User

Super User

Selfies labore, leggings cupidatat sunt taxidermy umami fanny pack typewriter hoodie art party voluptate. Listicle meditation paleo, drinking vinegar sint direct trade.

गुड़गांव। गुड़गांव के एक अस्पताल में जांच के लिए आई एक गर्भवती महिला ने चेकअप के लिए दो घंटे से अधिक वक्त तक इंतजार किया और अंत में शौचालय गई जहां उसका छह माह का भ्रूण गर्भ से निकल कर गिर गया। 

अस्पताल के एक अधिकारी तथा महिला के पति ने यह जानकारी दी। महिला के पति गोविंद कुमार ने बताया कि सुनीता 27 कल गुड़गांव के सरकारी अस्पताल गई थी। जहां उसे जांच के लिए दो घंटे से अधिक समय तक इंतजार करना पड़ा। उन्होंने बताया कि इससे उसके पेट में दर्द शुरु हो गया और जब वह शौचालय गई तो वहां उसका छह माह का भ्रूण गर्भ से निकल कर गिर गया।

कुमार ने बताया, ‘‘उसने पेट में दर्द की शिकायत की जिसके बाद मैंने और मेरी मां ने उसे शौचालय जाने के लिए कहा। वह शौचालय गई वहां अंधेरा था, उसे रक्तस्राव हुआ और वह बाहर आ गई।’’ उस रक्तस्राव से सुनीता इतनी भयभीत हो गई कि उसे पता ही नहीं चला कि भ्रूण शौचालय में ही गर्भ से निकल कर गिर गया है। बाद में अस्पताल के एक कर्मचारी ने शौचालय में भ्रूण देख कर अस्पताल प्रशासन को इसकी सूचना दी।

अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रदीप शर्मा ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने कहा, ‘‘ जब हमें घटना के बारे में पता चला तो हमने महिला की तलाश की और उसे गायनाकॉलोजी वार्ड में भर्ती किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह यकीन करना मुश्किल है कि महिला का भ्रूण शौचालय में गिर गया और उसे पता चक नहीं चला।’’

नई दिल्ली। एक ओर जहां मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा का करियर बर्बादी की ओर जा रहा है, तो वहीं कभी उनके दोस्त रहे सुनील ग्रोवर का लक इन दिनों उनके साथ है। फ्लाइट में हुए झगड़े के बाद अपने दोस्त कपिल शर्मा से अलग होने के बाद सुनील ग्रोवर सुर्खियों में छाए हुए हैं। एक तरफ जहां कपिल के नए टीवी शो 'फैमिली टाइम विद कपिल' को लोगों ने पसंद नहीं किया। वहीं, दूसरी ओर सुनील के नए शो 'दन दना दन' को फैंस ने काफी सपोर्ट किया है। अब छोटे पर्दे के बाद सुनील ग्रोवर के लिए बॉलीवुड के दरवाजे भी खुल गए हैं। 

एक खबर के अनुसार सुनील ग्रोवर के हाथ एक बहुत बड़ी बॉलीवुड फिल्म लगी है, जिसका नाम 'भारत' हैं। जी हां, यह सुनील के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। इस फिल्म में सुनील सलमान खान और प्रियंका चोपड़ा के साथ नजर आने वाले हैं। यही नहीं, खबरों की मानें तो इस फिल्म में सुनील का एक नया अवतार भी हमें देखने को मिलेगा। बता दें कि फिल्म 'भारत' में सुनील कोई कॉमेडी नहीं करने वाले हैं, बल्कि वह सलमान के दोस्त की भूमिका में दिखेंगे और वह एक दिलचस्प किरदार में नजर आएंगे। इसके अलावा सुनील डायरेक्टर विशाल भारद्वाज की अपकमिंग फिल्म 'छूरियां' में लीड रोल प्‍ले करते दिखेंगे। विशाल भारद्वाज की फिल्‍म 'छूरियां' में सुनील के साथ दो लीड एक्ट्रेस सान्या मल्होत्रा और राधिका मदान का नाम भी सामने आया है। 

नई दिल्ली। एक ओर जहां मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा का करियर बर्बादी की ओर जा रहा है, तो वहीं कभी उनके दोस्त रहे सुनील ग्रोवर का लक इन दिनों उनके साथ है। फ्लाइट में हुए झगड़े के बाद अपने दोस्त कपिल शर्मा से अलग होने के बाद सुनील ग्रोवर सुर्खियों में छाए हुए हैं। एक तरफ जहां कपिल के नए टीवी शो 'फैमिली टाइम विद कपिल' को लोगों ने पसंद नहीं किया। वहीं, दूसरी ओर सुनील के नए शो 'दन दना दन' को फैंस ने काफी सपोर्ट किया है। अब छोटे पर्दे के बाद सुनील ग्रोवर के लिए बॉलीवुड के दरवाजे भी खुल गए हैं। 

एक खबर के अनुसार सुनील ग्रोवर के हाथ एक बहुत बड़ी बॉलीवुड फिल्म लगी है, जिसका नाम 'भारत' हैं। जी हां, यह सुनील के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। इस फिल्म में सुनील सलमान खान और प्रियंका चोपड़ा के साथ नजर आने वाले हैं। यही नहीं, खबरों की मानें तो इस फिल्म में सुनील का एक नया अवतार भी हमें देखने को मिलेगा। बता दें कि फिल्म 'भारत' में सुनील कोई कॉमेडी नहीं करने वाले हैं, बल्कि वह सलमान के दोस्त की भूमिका में दिखेंगे और वह एक दिलचस्प किरदार में नजर आएंगे। इसके अलावा सुनील डायरेक्टर विशाल भारद्वाज की अपकमिंग फिल्म 'छूरियां' में लीड रोल प्‍ले करते दिखेंगे। विशाल भारद्वाज की फिल्‍म 'छूरियां' में सुनील के साथ दो लीड एक्ट्रेस सान्या मल्होत्रा और राधिका मदान का नाम भी सामने आया है। 

नई दिल्ली। कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी दलों ने आज उपराष्ट्रपति व राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू से मिलकर भारत के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग चलाने का नोटिस दिया। सूत्रों के अनुसार, सात राजनीतिक दलों से राज्यसभा के 60 से ज्यादा सदस्यों ने प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग का नोटिस दिया। 

महाभियोग के नोटिस पर हस्ताक्षर करने वाले सांसदों में कांग्रेस, राकांपा, माकपा, भाकपा, सपा और बसपा के सदस्य शामिल हैं। इन दलों के नेताओं ने आज पहले संसद भवन में बैठक की और महाभियोग के नोटिस को अंतिम रुप दिया। 

बैठक के बाद विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने पुष्टि की कि नेता प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग का नोटिस दे रहे हैं.   संसद भवन में हुई बैठक में कांग्रेस नेता आजाद , कपिल सिब्बल , रणदीप सुरजेवाला, भाकपा के. डी. राजा और राकांपा के वंदना चव्हाण ने हिस्सा लिया। सूत्रों के अनुसार, तृणमूल कांग्रेस और द्रमुक पहले प्रधान न्यायाधीश के महाभियोग के पक्ष में थे, लेकिन बाद में इससे अलग हो गए। 

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय द्वारा सीबीआई के विशेष न्यायाधीश बी. एच. लोया की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मृत्यु की जांच के लिये दायर याचिकायें खारिज किये जाने के अगले ही दिन महाभियोग का नोटिस दिया गया है।  लोया सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे। शीर्ष अदालत की प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ ने कल यह फैसला सुनाया था। महाभियोग का नोटिस देने के लिए राज्यसभा के कम से 50 सदस्यों जबकि लोकसभा में कम से कम 100 सदस्यों के हस्ताक्षर की जरुरत होती है.  

नई दिल्ली। जाने-माने मानवाधिकारवादी और दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र सच्चर का आज पूर्वाह्न यहां निधन हो गया। वह 94 वर्ष के थे।  उनका अंतिम संस्कार आज शाम करीब साढ़े पांच बजे लोधी रोड स्थित श्मशान में किया जाएगा। यह जानकारी उनके परिवार के सूत्रों ने दी। 

न्यायमूर्ति सच्चर का जन्म 22 दिसंबर 1923 को लाहौर में हुआ था। उनके दादा जी लाहौर उच्च न्यायालय के जाने माने फौजदारी वकील थे। वह 1970 में दिल्ली उच्च न्यायालय में अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त हुए थे। वह एकमात्र न्यायाधीश थे जिन्होंने आपातकाल में सरकार के आपातकाल संबंधी निर्देशों को मानने से इन्कार किया था। वह अगस्त 1985 से दिसंबर 1985 तक दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रहे। 

वह मानवाधिकारों के दृढ़ पैरोकार थे और संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार संरक्षण एवं संवर्धन उप आयोग के सदस्य भी रहे।  उन्होंने भारत सरकार द्वारा देश में मुस्लिम समाज के पिछड़ेपन के अध्ययन के लिए गठित समिति की अध्यक्षता की और अनेक क्रांतिकारी सिफारिशें कीं।
 

झांसी। उत्तर प्रदेश के झांसी में नगर पार्षद का टिकट दिलाने के नाम पर पांच लाख रुपये ऐंठने और जान से मारने की धमकी देने के मामले में स्थानीय अदालत ने बसपा के क्षेत्रीय समन्वयक समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किये जाने का आदेश दिया है।

बसपा कार्यकर्ता हरीशंकर ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में एक वाद दायर किया था। इस वाद पर अदालत ने कल सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है।

पीड़ित के वकील ने अदालत में प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि जब 2017 के नगर निगम चुनाव हुए थे। इसमें बसपा कार्यकर्ता हरीशंकर उर्फ कल्लन को वार्ड छह से टिकट दिलाने के लिए पार्टी के मुख्य जोन कोआॅर्डिनेटर लालाराम अहिरवार से बातचीत की थी। आरोप है कि उन्होंने टिकट के बदले पांच लाख रुपये मांगे और अगले दिन राजगढ़ में आवास पर बुलाया था। वहां पर वह हरीशंकर के साथ पांच लाख रुपये लेकर गया और लालाराम को सारा पैसा दे दिया था।

लालाराम ने रुपए अपने साथियों को देकर गिनवाए और दो लाख रुपये अपने पास रखते एक-एक लाख रुपये तीन साथियों जोन इंचार्ज रवि मौर्या, जोन इंचाज चार भूपेन्द्र आर्या व महानगर अध्यक्ष आनंद साहू को दिए थे साथ ही कहा था कि नामांकन के एक दिन पूर्व ही हरीशंकर को अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर उसे अधिकार पत्र दे दिया जाएगा लेकिन नामांकन वाले दिन मालूम हुआ कि सभी प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल कर दिया था।

प्रार्थना पत्र में कहा कि जब हरीशंकर को न टिकट मिला और न उसके पैसा वापस मिले। कई बार वह पैसा मांगने गया तो वह लोग टरकाते रहे। बाद में लालाराम ने एकांत में ले जाकर उसे जान से मारने की धमकी दी थी और उसे पार्टी से बाहर निकाल दिया। इसकी सूचना पुलिस को दी मगर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की।

सुनवाई के दौरान अदालत ने नवाबाद प्रभारी निरीक्षक को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया। इस आदेश के तहत लालाराम अहिरवार, रवि मौर्या, भूपेन्द्र आर्या, महानगर अध्यक्ष भूपेन्द्र साहू के खिलाफ दफा 406, 420,323,506,504, 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज होगा। इस संबंध में पुलिस का कहना है कि आदेश अभी नहीं आया है। आदेश आते ही मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा।

लखनऊ। बलात्कार मामले के आरोपी उन्नाव के बांगरमऊ में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की वाई श्रेणी की सुरक्षा उत्तर प्रदेश सरकार ने हटा दी है। प्रमुख सचिव (गृह) अरविंद कुमार ने बुधवार को बताया कि 12 अप्रैल को सेंगर के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज होने के बाद सरकार विधायक की‘वाई’कैटेगरी सुरक्षा को वापस लेने का फैसला किया है। 

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने विधायक को सात दिन की रिमांड पर ले रखा है। उन्हे कल सुबह विशेष अदालत में पेश किया जायेगा जहां जांच एजेंसी रिमांड बढाने की गुजारिश कर सकती है। सूत्रों ने बताया कि विधायक के माखी स्थित आवास पर तैनात दो कमांडो समेत 11 सुरक्षा कर्मियों को हटा लिया गया है। उधर सीबीआई ने विधायक के खिलाफ 363, 366, 376 ,506 और पाक्सो एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। सेंगर को 13 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने विधायक की गिरफ्तारी को लेकर हो रहे विलंब को लेकर अपनी नाखुशी व्यक्त की थी। इस बीच चार दिन की पुलिस रिमांड समाप्त होने के बाद विधायक की सहयोगी शशि सिंह को वापस जेल भेज दिया गया है। 

रायबरेली। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के रायबरेली में प्रस्तावित भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मेगा रैली में कल पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई बड़े नेता कांग्रेस और गांधी परिवार पर हमले करेंगे।

स्थानीय जीआईसी मैदान पर दोपहर 12.30 बजे शुरु होने वाली जनसभा में भाजपा के दिग्गज रायबरेली और अमेठी के पिछड़ेपन के लिये कांग्रेस और गांधी परिवार को जिम्मेदार ठहराते हुये शब्दबाण छोड़ेंगे। इस रैली की खासियत यह भी होगी कि कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य दिनेश प्रताप सिंह और उनके परिवार के लोग भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं।

हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन कयास लगाये जा रहे हैं कि हरचंदपुर के कांग्रेस विधायक राकेश सिंह और उनके अनुज दिनेश भाजपा की सदस्यता हासिल कर सकते हैं। इसके अलावा जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह के भी भाजपा में शामिल होने की संभावना जतायी जा रही है। विधान पार्षद दिनेश सिंह ने अपने विधायक और जिला पंचायत अध्यक्ष भाईयों के साथ पिछली 10 अप्रैल को कांग्रेस से किनारा कर लिया था।

जालन्धर : सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मोहाली स्टेडियम में खेले गए टी-20 दौरान पंजाब किंग्स इलैवन के बल्लेबाज क्रिस गेल ने एक बार से साबित किया कि उन्हें सिक्सर किंग क्यों कहा जाता है। गेल ने 103 रन की अपनी पारी दौरान 11 धनधनाते छक्के मारे। वैसे भी मोहाली का स्टेडियम काफी रास आता है। गेल ने यहां छठा मैच खेला था जिसमें आईपीएल-11 का पहला शतक लगाया। इससे पहले उन्होंने यहां खेले गए छह मुकाबलों में 14 (12), 87 (56), 61 (33), 17 (14), 63 (33) और 104* (63) रन बनाए हैं। इस तरह गेल मोहाली में गेल के नाम तीन अर्धशतक और एक शतक दर्ज हो चुका है। उनकी स्ट्राइक रेट भी यहां 163 की चल रही है। यानी- 211 गेंद में 346 रन के कारण।

क्रिस गेल ने मैच दौरान अफगानी बॉलर राशिद खान की खूब खबर ली। हालांकि इससे पहले राशिद ने क्रिस गेल के साथ बदसलूकी भी की थी जब राशिद की एक गेंद को गेल ने रक्षात्मक ढंग से रोक दिया था। लेकिन उधर, जोश से लबरेज राशिद ने बॉल पकड़ी और सीधी गेल के स्टंम्प पर दे मारी। गेल कुछ नहीं बोले। इसका जवाब उन्होंने बच्चे से दिया। गेल ने राशिद के एक ओवर में चार लगातार छक्के मारे। हालांकि एक समय ऐसा लग रहा था कि गेल लगातार दो बार एक ओवर में पांच छक्के मारने का रिकॉर्ड बना देंगे लेकिन ऐसा हो नहीं पाया।

क्रिस गेल ने इससे पहले पिछला शतक 2015 में पंजाब के खिलाफ बनाया था। बेंगलुरु में खेले गए इस मैच में क्रिस गेल और विराट कोहली ने ओपिंनग की थी। मैच दौरान गेल ने धनधनाते 12 छक्के मारे थे। गेल ने महज 57 गेंदों का सामना करते हुए 117 रन बनाए थे जिसमें 7 चौके भी शामिल थे। वहीं, कोहली 32, डीविलियर्स ने चार छक्के और तीन चौकों की मदद से 47 रन बनाए थे। जवाब में खेलने उतरी पंजाब की टीम तब महज 88 रन पर ऑल आऊट हो गई थी।

छक्के के मामले में दूसरे नंबर पर पहुंचे गेल
गेल ने दूसरे मैच में कुल 11 छक्के लगाए। इस तरह पिछले मैच के 4 छक्के मिलाकर वह आईपीएल-11 में अब तक 15 छक्के जड़ चुके हैं। उनसे ऊपर सिर्फ हमवतन आंद्रे रसैल है जोकि कोलकाता की ओर से खेलते हुए अब तक 19 छक्के मार चुके हैं। गेल इस सीजन में संजू सैमसन (12), ईवन लैविस (11) और एबी डीविलियर्स (10) में पीछे छोड़ चुके हैं।

आईपीएल में क्रिस गेल के लिए सबसे अच्छा सीजन 2011 गया था। इस दौरान उन्होंने 12 मैच खेले, 3 बार नॉट आऊट रहते हुए उन्होंने कुल 608 रन बनाए थे। उनकी इस सीजन की सबसे खास बात उनकी स्ट्राइक रेट (183.13) थी जो अब तक की सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट है। अब मौजूदा सीरीज में चाहे ही क्रिस गेल दो ही मैच खेले हैं लेकिन उनका स्ट्राइक रेट अभी 188 चल रहा है जोकि बताता है कि गेल 2011 वाली अपनी फॉर्म में वापस लौट आए हैं।

नेशनल डेस्क: उन्नाव रेप और कठुआ गैंगरेप की घटनाओं को लेकर विरोध सह रही केंद्र सरकार कड़े कानून बनाने जा रही है। सुप्रीम कोर्ट को सौंपी रिपोर्ट में केंद्र ने कहा कि पोक्सो एक्ट में संसोधन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। 12 साल तक के बच्चों के साथ रेप करने के दोषी को फांसी की सजा दिए जाने की व्यवस्था की जा रही है। केंद्र ने एक जनहित याचिका के जवाब में यह रिपोर्ट सौंपी। मामले की अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी। 

केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को सौंपी रिपार्ट
केंद्र द्वारा सुप्रीम कोर्ट को भेजी गई चिट्ठी में कहा गया कि 12 साल के बच्चों से रेप के मामले में POCSO ऐक्ट में संशोधन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जिससे दोषियों को अधिकतम दंड के तौर पर मौत की सजा दी जा सके। हाल ही में महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा था कि उनका मंत्रालय बच्चों के साथ दुष्कर्म के दोषियों के लिए मृत्युदंड की सजा के प्रावधान के लिए पॉक्सो एक्ट में संशोधन की मांग पर विचार कर रहा है। 

बता दें कि बच्चियों के साथ बढ़ रही रेप की घटनाओं को लेकर देशभर से पाक्सो एक्ट में संशोधन की मांग उठने लगी है। जम्मू के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले के बाद लोग रोष में हैं। पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस मामले का शर्मनाक बताया ​था। 

Page 1 of 13

Visitor Counter

Today 1

Week 749

Month 838

All 838

Currently are 216 guests and no members online

Facebook LikeBox

Post Gallery

नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप

एबीवीपी का सदस्यता अभियान

कश्मीर में शूटिंग करते सलमान खान की ये तस्वीरें हुर्इ वायरल

मैं कभी कास्टिंग काउच का शिकार नहीं हुआ - रणबीर कपूर

Asaram Verdict: रेप पीड़िता के पिता बोले, न्‍याय मिला

मोदी-माल्या पर शिकंजा कसेगी ED, नए अध्यादेश के तहत होगी संपत्ति कुर्क

भगवान बनकर लोगों को लूटने वाले ये चार बाबा भी हैं सलाखों के पीछे

नाबालिग से रेप केस में आसाराम को उम्रकैद, फैसला सुनते ही फूट-फूट कर रोया

आसाराम न्यायालय मे सजा सुनते ही रो पडा